बाढ़ राहत शिविर : मजबूरी एक, दर्द अनेक

नरौली (मुजफ्फरपुर). नदियों का पानी अब उतरने लगा है, लेकिन बाढ़पीड़ितों की परेशानी कम नहीं हुई है. स्थिति सामान्य होने

Read more

पूंजीवाद से ग्राम स्वराज की कल्पना अधूरी

गांधी के ग्राम स्वराज की कल्पना आर्थिक उदारीकरण के कारण मुल्क की मिट्टी में दफन हो गयी। ग्राम स्वराज की

Read more

सावन हे सखी सगरो सोहावन

पारू से खुशबू कुमारी || गांव के लोग प्रकृति के साथ जीते हैं। खेत-खलीहान, बाग-बगीचा, कीट-पतंग के सहचर हैं गांव के

Read more