सुधा दूध कंपनी के नाम पर फर्जी बहाली का चल रहा रैकेट

मुजफ्फरपुर. सुधा दूध कंपनी के नाम पर फर्जी बहाली का रैकेट काफी जोरों से चल रहा है. यह रैकेट केवल अपने शहर में ही नहीं, कई प्रदेशों में चल रहा है. शहर के भीड़भाड़ इलाके में स्थित बिजली पोल, गुमटी व पुराने मकानों की दीवारों पर पोस्टर चिपका कर युवाओं व युवतियों से आवेदन आमंत्रित किये जा रहे हैं. आवेदन कहां करना है, इसके लिए कोई सटीक पता का जिक्र पोस्टर में नहीं है, लिखा है अधिक जानकारी के लिए मोबाइल नंबर 7970714663 पर संपर्क करें. हालांकि, सुधा दूध कंपनी के प्रबंधन ने इस तरह की बहाली को फर्जी बताया है.

अनपढ़ से लेकर बीटेक पास तक को दिया झांसा
बहाली के लिए योग्यता अनपढ़ से लेकर ग्रेजुएट तक निर्धारित किया गया है. पद के हिसाब से पगार देने का भी झांसा दिया जा रहा है. आठवीं पास आवेदकों के लिए हेल्पर का पद निर्धारित है. इस पद के लिए 9,600 रुपये वेतन अंकित किया गया है. 10 वीं पास आवेदकों को 13,200 रुपये वेतन पर स्टोरकीपर के पद पर नौकरी दी जा रही है. 12 वीं पास युवक व युवतियों को 15,300 रुपये पर सुपरवाइजर पद की नौकरी दी रही है. स्नातक पास युवक व युवतियों के लिए 16,500 रुपये सीनियर सुपरवाइजर के लिए निर्धारित है. वहीं, डिप्लोमा/बीटेक/एमबीए पास के लिए एबीएम का पद बताया जा रहा है. इसकी सैलरी 18,000 रुपये बताया जा रहा है. सुविधा के नाम पर रहना, खाना, मेडिकल व मोबाइल सेवा फ्री देने का दावा दिया जा रहा है.

शहर के प्रमुख इलाकों में लगाया पोस्टर
लोगों में चर्चा है कि काफी संख्या में युवक व युवतियां इस विज्ञापन को देखने के लिए आते हैं. कई अपने मोबाइल में इस बहाली से जुड़े पोस्टर की तसवीर भी लेकर जाते हैं. लेकिन यह पोस्टर ऐसे समय में लगाया गया, जब लोगों का आवागमन काफी कम रहता है. पोस्टर बनारस बैंक चौक, पक्की सराय चौक, मिठनपुरा, अघोरिया बाजार, कच्चीपक्की, माड़ीपुर, भगवानपुर समेत कई इलाकों में इस तरह के पोस्टर देखे जा रहे हैं.

सुधा ने कहा, बहाली फर्जी है, झांसे में न आएं
इधर, तिमुल के प्रबंधन निदेशक विजय कुमार ने सुधा में किसी भी प्रकार की बहाली होने से इनकार किया है. उन्होंने बताया कि इस पोस्टर में दिये गये विज्ञापन के झांसे में युवक व युवतियों को नहीं आना चाहिए. यह बहाली बिल्कुल फर्जी है. सुधा की ओर से बहाली के लिए पोस्टर के माध्यम से कभी भी विज्ञापन नहीं निकाला जाता है. जब भी विज्ञापन निकाला जाता है, तो समाचार पत्रों के माध्यम से निकाले जाते हैं. फर्जी बहाली के नाम पर युवक व युवतियों को ठगने का काम केवल अपने शहर में नहीं, पूरे बिहार में हो रहा है. कई जगह से इस तरह की सूचनाएं मिल रही है. जब उस नंबर पर कॉल किया जाता है, तो बात नहीं हो पाती है. यहां की तमाम गतिविधियों से जुड़ी जानकारी कंफेड को दे दी गयी है. आगे मुख्यालय कार्रवाई के लिए रणनीति बनायेगा.

इनपुट : प्रेम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar