अप्पन समाचार रेडियो

एपिसोड : 2  

प्रार्थना

15 अगस्त 2017 को देश 70वां स्वतंत्रता दिवस हर्षोल्लास के साथ मना रहा था. उधर, देश के अन्नदाता यानी किसान अपने खेतों में फसल की रखवाली में लगे थे. हल-बैल, खुरपी-कुदाल लिए अपने भाग्य को कोस रहे थे. आजादी के 70 साल बाद भी किसानों की दुर्दशा नहीं बदली. जश्न-ए-आजादी के इस मौके पर अप्पन समाचार रेडियो की आरजे प्रार्थना ने मुजफ्फरपुर जिले के मुसहरी प्रखंड के कुछ किसानों से बात की.

सुनिये, क्या कहते हैं हमारे अन्नदाता –


एपिसोड : 1  

अक्षरों की चमक, शब्दों की दुनिया, पुस्तकों का संसार और ज्ञान का भंडार देखना-खोजना हो, तो आप बिना सोचे-समझे पुस्तकालय की आेर रूख कर लीजिए. आप संतुष्ट होकर लौटेंगे, कुछ लेकर वापस होंगे.  अधिक पढ़ने के लिए क्लिक करें 

(मित्रों, ऑडियो में अप्पन समाचार टीम का यह पहला प्रयास है. कुछ त्रुटियां रह गयी हैं. हमारी कोशिश रहेगी कि अगले एपिसोड में ये गलतियां दूर हो. कोई एडिटिंग नहीं की गयी है. हू-ब-हू ऑडियो पोस्ट किया गया है. अगले एपिसोड से रेडियो जॉकी की भूमिका में गांव की कोई न कोई एक महिला शामिल होगी.)

Facebook Comments